रामपुर : हमेशा विवादों में घिरे रहने वाले सपा सांसद और पूर्व मंत्री आजम खां पर प्रशासन का सिकंजा कसने लगा है। प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए एक हजार वर्ग मीटर में आजम खां के हमसफर रिर्सार्ट की दिवार को गिरा दिया है।
   उल्‍लेखनीय है कि भू माफिया घोषित सांसद आजम खां पर जमीन कब्‍जाने के 28 से अधिक मामले दर्ज हैं। बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन ने आजम खां के जिस हमसफर रिसॉर्ट पर की दिवार पर बुल्‍डोजर चला है वह सिंचाई विभाग की करीब 1000 वर्ग मीटर जमीन पर कब्‍जा कर बनाया गया है। यह रिसॉर्ट रामपुर स्थित आजम खां की जौहर यूनिवर्सिटी के अंदर बनाया बनाया गया है। 
बता दें कि अखिलेश यादव के नेतृत्‍व वाली सपा शासन के दौरान उत्तर प्रदेश में कैबिनेट मंत्री रहे खान मोहम्मद अली जौहर विश्विविद्यालय के संस्थापक एवं कुलाधिपति हैं। इसकी स्थापना 2006 में हुई थी। रामपुर के पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा ने कहा, 11 जुलाई से करीब दो दर्जन किसान विश्वविद्यालय के लिए उनकी जमीन का अतिक्रमण किए जाने के आरोप के साथ पुलिस के पास आ चुके हैं। हमने इन मामलों में 30 प्राथमिकियां दर्ज की हैं और जांच जारी है।
शर्मा ने कहा, ‘‘कुछ किसानों ने एक बीघा, दो बीघा और कुछ ने और अधिक बीघा जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है। अब तक 0.349 हेक्टेयर भूमि अतिक्रमण की शिकायत दर्ज हुई हैं।
 जमीन पर कब्जा करने के अलावा रामपुर पुलिस ने विश्वविद्यालय के अधिकारियों के खिलाफ 16 जून को एक आपराधिक मामला दर्ज किया था। यह मामला 250 साल पुराने रामपुर के ओरियंटल कॉलेज के प्रधानाचार्य की शिकायत पर दर्ज किया गया कि वहां से करीब 9,000 किताबें चोरी कर उन्हें जौहर विश्वविद्यालय के पुस्तकालय में रख लिया गया। 
जिक्र योग्‍य है कि आजम खान ने रिजॉर्ट के लिए एक हजार मीटर अवैध कब्जा किया था, जिसे दो जेसीबी और बुलडोजर से जमींदोज कर दिया गया। बता दें कि समाजवादी पार्टी के शासनकाल में आजम खान ने इस लग्जरी हमसफर रिसॉर्ट को बनवाया था। करोड़ों की लागत से बने इस रिसॉर्ट का लोकार्पण पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने किया था। शुक्रवार को प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए रिजॉर्ट के अवैध हिस्से को गिराया।
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.