रजनीश कुमार मिश्र (गाजीपुर):  लगातार बड़ रहे गंगा के जलस्तर के वजह से लाख कोशिशों के बावजूद भी करुणेश का शव बरामद नहीं किया जा सका ।नीजी  गोताखोरोंं ने गाजीपुर से लेकर उजीयार भरौली तक गंगा को छान मारा लेकिन करुणेश का शव बरामद नहीं हो पाया गोताखोरोंं ने बताया कि गंगा मे तेज बहाव के कारण खोजबिन मे रुकावटें आ रहीं है ।उधर घर के इकलौते पुत्र को आखरी बार देखने के लिए मां उर्मिला कि आंंख
रो रो कर पथरा गई है ।आखिर भगवान ऐसे कठोर कैसे हो सकता है कि घर के चिराग को परिवार के लोग अब तक नहीं देख पाये उधर घर  से रुक रुक रोने कि आवाज आने से ग्रामीण भी अपने आप को रोने से नहीं रोक पा रहे है । मालुम हो कि 17अगस्त को बरेसर थाने क्षेत्र के भागीपुर गांव मे एक बृद्ध की मौत हो गई थी ।उसी के अंतिम संस्कार मे गये पोते करूणेश. कि गाजीपुर के पोस्ता घाट पर गंगा मे स्नान करते समय  डुबने से मौत हो गई ।उस समय लाख प्रयास के बाद भी करुणेश का शव बरामद नहीं हो पाया था इस घटना को घटे तीन दिन बीत गये है लेकिन गोताखोर शव बरामद नहीं कर पाये ।करुणेश के छोटे दादा सेवानिवृत्त इंजीनियर ब्रम्हदेव सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन के लपरवाही से ये घटना घटी है उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन को गहरे पानी कि तरफ बैरिकेडिंग कर देनी चाहिए ।परीजनो ने पुलिस पर आरोप लगाया कि सुचना मिलने के दो घंन्टे बाद पुलिस जाल  और गोताखोर लेकर पहुंची। और किसी तरह कोरम पुरा कर वापस चली गई परीजनो के यहां आने वाले रिस्तदारो को देख करुणेश कि मां उर्मिला दहाड़े मार रोने लगती है ।
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.