दिल्‍ली : जाकिर नाइक पर कभी भी मलेशिया सरकार का शिकंजा कस सकता है। क्‍यों वहां के गृहमंत्री  मुहीद्दीन यासिन ने दो टूक लहजे में कहा है कि यहां कानून से ऊपर कोई नहीं है। उल्‍लेखनीय है कि इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक पर  हाल ही में मलेशिया की सरकार ने  किसी भी जातिय और राजनीतिक कार्यक्रम में शामिल होने और तकरीर  देने पर पाबंदी लगाया दिया था। मलेशिया सरकार में दूसरे नंबर के इस मंत्री के बयान को भारत की कुशल कु‍टनीति का  परिणाम माना जा रहा है। उल्‍लेखनीय है कि गत 18 अगस्‍त को उन्‍होंने कहा था कि हम जाकिर के बयान को नस्लीय भेदभाव और संवेदनशील मामला मानते हैं। लिहाजा पुलिस ने जाकिर को पूछताछ के लिए बुलाया। 
     गृहमंत्री  मुहीद्दीन यासिन कुआलालंपुर की एक यूनिवर्सिटी में आयोजित कार्यक्रम के बाद पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि जाकिर के भड़काऊ बयान मामले में पुलिस जांच कर रही है। वह पुलिस रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।बता दें कि भारत के भगोड़े जाकिर पर मलेशिया में अल्पसंख्यक हिंदुओं और चीन के लोगों की भावनाएं आहत करने का आरोप है। नाइक ने एक भड़काऊ भाषण दिया था। उसने कहा था कि मलेशिया में हिंदुओं को भारत के मुस्लिमों के मुकाबले 100 गुना ज्यादा अधिकार मिले हैं।

Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.