कलौंजी में इतने गुण होते हैं कि यह मौत को छोड़ हर मर्ज की दवा हो सकता है. कलौंजी एक तरह का बीज है. इसे अंग्रेजी में Nigella Sativa कहते हैं. भारत के लगभग हर किचन में मिलने वाले कलौंजी में मौजूद शरीर की हर समस्या के समाधान में कारगर हैं. खासतौर से बाल से संबंध‍ित परेशानियों से निजात दिलाने में यह बेहद कारगर है... कलौंजी में आयरन, सोडियम, कैल्शियम, पोटैशियम और फाइबर होता है. यह अमीनो एसिड और प्रोटीन से भरपूर है. यही वजह है कि आयुर्वेद विशेषज्ञ दवाओं में इसका इस्तेमाल सदियों से करते आ रहे हैं. इसके फायदे...
1. कलौंजी के बीजों को सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ खाएं तो डायबिटीज और एसिडिटी से राहत मिल सकती है
2. साथ ही ये कील-मुंहासों की समस्याओं में भी राहत पहुंचाता है.
3. कलौंजी का इस्तेमाल दिमागी क्षमता बढ़ाने के लिए भी किया जाता है.
4. इसके अलावा कलौंजी अस्थमा और जोड़ों के दर्द में भी फायदेमंद होता है.
5. कलौंजी में पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो कैंसर जैसी बीमारी से सुरक्षा प्रदान करने में सहायक होते हैं.
6. अगर आपको कफ की समस्या है तो कलौंजी के तेल का इस्तेमाल आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा.
7. इसके अलावा यह खून में विषाक्त पदार्थों को साफ करने का काम करता है. सुबह के समय खाली पेट इसका इस्तेमाल करना कहीं अधिक फायदेमंद होता है
8. कलौंजी का तेल में ऑलिव ऑयल और मेंहदी पाउडर को मिलाकर हल्का गर्म करें. जब यह मिश्रण ठंडा हो जाए तो इसे किसी शीशी में बंद करके रख दीजिए. इस तेल से सप्ताह में दो बार मसाज करने से गंजेपन की समस्या में राहत मिलती है.
9. कलौंजी की राख को ऑलिव ऑयल में मिलाकर मसाज करने से नए बाल आना शुरू हो जाएंगे.
10. सिर पर 20 मिनट तक नींबू के रस से मसाज करने के बाद बालों को अच्छी तरह साफ कर लें. इसके बाद कलौंजी के तेल से बालों में अच्छी तरह मसाज करें. 15 मिनट तक बालों को इसी तरह छोड़ दें. इस प्रक्रिया को नियमित करने से बालों के गिरने की समस्या दूर हो जाती है.
हालांकि गर्भावस्था में कलौंजी के इस्तेमाल से बचना चाहिए, वरना गर्भपात होने की आशंका बढ़ जाती है.
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.