आजमगढ़ : कहते हैं बिगड़ी हुई आदत जल्‍द सुधरती नहीं है। कोलकाता में रहे रहे एक शौहर ने अपनी पत्‍नी को फोन पर तलाक दे दिया। पति के इस व्‍यवहार से आहत पत्‍नी थाने पहुंच गई। यह मामला जिले के निजामाबाद थाना क्षेत्र का है। 
  उल्‍लेखनीय है कि इसी माह संसद में तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाए जाने के बाद पूर्वांचल में यह पहला मामला है। जिसके तहत पुलिस ने आरोपित पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 
   मामले के अनुसार निजामाबाद थाने के हुसैनाबाद निवासी नसीम अहमद की बेटी साजियाबानो का निकाह करीब पांच वर्ष पहले वजीरमलपुर गांव निवासी सबरे आलम से हुआ था। पीडि़ता के मुताबिक दोनों की एक तीन साल की बेटी है।  पति सबरेआलम कोलकाता में ट्रक ड्राइवर है। पत्‍नी साजिया का आरोप है कि शादी के बाद से ही पति दहेज को लेकर प्रताडि़ करता है। आरोप है कि करीब दो महीने पहले उसने कोलकाता से फोन पर ही पत्‍नी को तीन तलाक दे दिया था। तबसे वह अपनी बेटी के साथ मायके मे ही रह रही थी।
  तीन तलाके खिलाफ कानून बनने पर बढ़ा हौसला
साजिया का कहना है कि पहले वह अपनी और अपनी बच्‍ची के भविष्‍य को लेकर परेशानी थी। लेकिन तलाक के खिलाफ कानून बने पर उसका हौसला बढ़ा और वह निजामाबाद थाने पहुंच कर पति के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई। थाना प्रभारी निरीक्षिक दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद आरोपी सदरे आलम को फोन पर तलाक देने और दहेज के लिए प्रताडि़त करने के आरोप में मुस्लिम महिला सुरक्षा एक्‍ट के तहत केस दर्ज कर  गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। 
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.