गाजीपुर :  सैदपुर स्थित यूबीआई की शाखा के ऊपर किराये के मकान में रह रहे कपड़ा व्यवसायी को सोते समय तड़के बादमाशों ने गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। पत्‍नी रेशमा ने जब बादमाशों का विरोध किया तो उन्‍होंने तमंचे की मुठिया से सिर पर वार कर दिया जिससे वह गंभीर रूप से जख्‍मी हो गई। मृतक की पहचान 40 वर्षीय सुशील कुमार गुप्‍ता के रूप में हुई है। 
  मौके पर पहुंची नगर थाना सैदपुर पुलिस ने  घायल रेशमा को उपचार के लिए स्‍थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजवाया, लेकिन रेशामा की हालत गंभीर होने पर डॉक्‍टरों ने उसे जिला अस्पताल गाजीपुर रेफर कर दिया। कपड़ा व्यवसायी की हत्या के बाद घटना स्‍थल पर पहुंचे आइजी विजय सिंह मीणा व एसपी डॉ. अरविंद चतुर्वेदी ने मौका-मुआयना कर तफतीश शुरू कर दी है।
   बताया जा रहा है सुशील कुमार गुप्ता मूल रूप से सैदपुर कोतवाली क्षेत्र के पाठक का चकिया गांव के रहने वाले थे।  उन्‍होंने कुछ साल पहले वाराणसी के सारनाथ क्षेत्र के दीनापुर में मकान बनवाया था। फिलहाल वह सैदपुर कस्बा स्थित यूबीआई की शाखा के ऊपर किराये के मकान में पत्‍न के साथ रहते थे। उनकी दुकान केनरा बैंक के नीचे है। रोज की भांति वह दुकान बंद कर रात को घर चले गए। खाना खाए और सो गए। तड़के करीब तीन बजे दो बदमाश पहुंचे और चैनल गेट का ताला तोड़कर सीधे कमरे में प्रवेश किए और सुशील के सीने में गोली मार दी। गोली की आवाज सुनकर बगल में बच्चों संग सो रही पत्नी रेशमा की नींद खुली तो दौड़कर गई और बदमाशों से भिड़ गई। इस पर एक बदमाश तमंचा की मुठिया से उसके सिर पर प्रहार कर दिया और भाग निकले। बदमाशों के जाने के बाद रेशमा ने 100 नंबर पर फोन कर पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी। कुछ ही देर में कोतवाली प्रभारी सुधाकर राय पहुंचे और दंपति को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सैदपुर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने सुशील को मृत घोषित कर दिया। फिलहाल पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। 
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.