रजनीश मिश्र, बराचवर (गाजीपुर)  थाना क्षेत्र बरेसर के दहेन्दु गांव मे चौदह वर्षिय किशोर का प पूर्वांचल पर मिट्टी डालने के लिए खोदे गये गढ्ढे डूबने से मौत का मामला प्रकाश मे आया है । जानकारी के मुताबिक दहेन्दु गांव निवासी ओमप्रकाश मोर्य पुत्र अयोध्या उम्र 14रात से ही लापता था।  काफी देर बीत जाने के बाद  परीजन उसे ढुढने के लिए नीकले और  गांव मे पता करने लगे काफी रात होने के बजह से उसके परीजन सो गये ।सुबह होने के बाद  गांव के कीसी व्यक्ति ने देखा की  खोदे गये गढ्ढे मे  लाठी दीखा शक होने पर उसके परीजनो को इसकी सुचना दी ।सुचना मिलते ही परीजन ग्रामीणों के साथ उस जगह पहुंच गये  गढ्ढे मे पानी ज्यादा होने के वजह से ग्रामीणो ने पानी मे जाल बीछा दिया ।और इसकी सुचना सौ नम्बर को दे दिया सुचना मिलते ही बाराचवर चौकी स्थित 3187 तुरन्त ही पहुंच गई। जैसे ही इसकी जानकारी बरेसर थानाध्यक्ष को हुआ वह भी अपने आरक्षीयो व बाराचवर चौकी प्रभारी देवेन्द्र बहादुर सिंह को लेकर पहुंच गये । काफी देर के बाद शव को बाहर नीकाला गया  जिसे देख कर परीजन दहाड़े मार रोने लगे परीजनो का रोना देख वहां मवजुद सभी को रोने पर बीबस कर दिया। वहां मवजुद लोगों ने बताया की पुर्वानचल एक्सप्रेसवे के कार्य के लिए ये गढ्ढा खोदा गया था ।लोगों का कहना था की तीन फीट की जगह ये लोग काफी गहराई तक खोद कर मिट्टी निकाल रहे है ।अगर मानक के अनुसार कार्य होता तो.आज एक  किशोर की उसमे डुबने से मौत नहीं हुई होती बहीं बरेसर थानाध्यक्ष ने बताया की परीजनो के बयान के बाद शव का पंन्चनाम कर  शव को परीजनो को सुपुर्द कर दिया गया। आप को बता दे की पुर्वानचल एक्सप्रेसवे के कर्मचारियों के लपरवाही के वजह से खोदे गये गढ्ढे मे बरसात का पानी भरने के वजह से  उसमे डुब कर मरने का यह पहला मामला नहीं है ।इससे पहले भी कई मामले प्रकाश मे आ चुके है अगर ऐसे ही युपीडा के कर्मचारी लपरवाही करते रहे तो और भी जाने जा सकती है ।
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.