वाराणसी : गबन करने वाले अपनी हरकतों से बाज नहीं आते। बैंक हो या कोई अन्‍य सरकारी महकमा। इनकी नजर हर जगह बनी रहती है। और जब गबन करता कोई सरकारी मुलाजिम ही हो तो क्‍या किया जा सकता है। ऐसा ही कुछ मामला वाराणसी कैंट स्थित प्रधान डाकघर में  हुआ है। यहां खातों से गबन के मामलों का खुलासा होने का सिलसिला जारी है।
जांच शुरू होते ही गबन का दायरा दोगुना हो गया। इससे पहले जहां एक करोड़ के घोटाले का पता चला था वहीं अब यह राशि एक करोड़ से अधिक हो गई है।  खातों से जांच कराने के लिए खाताधारकों की भीड़ लगी रही। देर शाम तक लोग अपने खाते की जांच कराते रहे। करीब-करीब सौ सभी खातों से पैसे गायब थे। 
बता दें कि इस मामले में कैंट थाने में कमच्छा के खाताधारक देवेश अग्रवाल की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है।  इसके अलावा सात और तहरीर पड़ी है। उधर, डाक विभाग ने एक और कर्मचारी को निलंबित कर दिया है। 

Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.