पटना : बिहार सरकार और वहां की पुलिस आए दिन अपने नित नए कारनामों को लेकर चर्चा में रहती है। लेकिन अब देशभर में हंसी का पात्र बनी बिहार पुलिस और वहां की सरकार बिपक्ष के निशाने पर आ गई है। ताजा मामला पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र के राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार के दौरान सलामी गारद द्वारा राइफल से गोलियां नहीं दाग पाने का है।  अब पूरा विपक्ष ने गुरुवार को नीतीश सरकार पर निशाना साधा हैै। 
पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का बुधवार को बिहार के सुपौल जिले के वीरपुर अनुमण्डल अंतर्गत बलुआ बाजार में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया था। गार्ड आफ ऑनर के समय सभी 22 राइफलों से एक भी गोली नहीं चली थी। इस पर निशाना साधते हुए उपेंद्र कुशवाहा ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि बिहार पुलिस की क्या हालत है। इसका सीधा उदाहरण मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने देख लिया। वो स्वयं इसके चश्मदीद हैं।उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र की अंत्योष्टि के समय दी जा रही सलामी में राइफलों ने काम नहीं किया और फायर नहीं किए जा सके। बिहार विधान परिषद में कांग्रेस सदस्य प्रेमचंद मिश्र ने ट्वीट कर कहा 'बिहार पुलिस गार्ड ऑफ ऑनर में गोली नहीं चला सकती तो अपराधियों का मनोबल बढे़गा ही। 
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.