ओम रतूड़ी, ऋषिकेश । भारत के लोग पाक वासियों के हित के बारे में भी सोचते हैं । यह कहना है राष्ट्रीय सयंम स्वयं सेवक संघ के राष्ट्रीय महामंत्री कृष्ण गोपाल का । शनिवार को ऋषिकेश से सटे टिहरी जिले की  मुनि की रेती शीशम झाड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरु आश्रम दयानन्द आश्रम मे पूजनीय स्वामी दयानन्द की चतुर्थ पुण्यतिथि एवं   आश्रम की 50 वी  वर्षगाठ   के अवसर पर  मुख्य अतिथि के तौर पर उन्होंने यह प्रसंग देश के आध्यात्मिक पक्ष के बारे में बताते हुए बयान किया। उन्होंने कहा कि दुनिया के बड़े व विकसित देशों के पास सब कुछ है, लेकिन आध्यात्मिक पक्ष नहीं है। भारत के लोग सर्वे भवन्तु सुखिनः के समर्थक हैं, उनकी प्रत्येक दिन की प्रार्थना यही होती है। वे तमाम विरोध के बावजूद पाकिस्तान के लोगों का अहित नहीं हित चाहते हैं।यही कारण है कि विदेश में सुनामी या आपदा आने पर भारतीय वहां मदद के लिये पहुंच जाते हैं। हर व्यक्ति के मन मे चाहे वह अपराधी ही क्यों न हो, आध्यात्मिक पहलू रहता है। यही कारण है कि विदेश से स्वास्थ्य के लिए गरीब देशों को मदद मिलती है। 


इस मौके पर उत्तराखंड के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने घोषणा की कि आश्रम के   पास का घाट स्वामी दयानंद के नाम से जाना जाएगा।
यह घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि स्वामी दयानंद के नाम का यह घाट आम जनता के लिये भी उपलब्ध होगा। सुबोध उनियाल ने फोर्थ एनिवर्सरी एम्बुलेंस टेहरी व देहरादून जिले को देने के लिये धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि दयानन्द आश्रम व कुछ ही आश्रम हैं जिन्हें आश्रम कहा जा सकता है। इस मौके पर आश्रम के ट्रस्टी पीयूष शाह, स्वामी शान्तानन्द, भाजपा के उत्तराखंड उपाध्यक्ष विनय रोहिला,  कृषि सचिव मीनाक्षी सुंदरम, पालिका अध्यक्ष रोशन रतूड़ी,, स्वामी सुरदानन्द, विनोद कुकरेती, शान्तानन्द, सचिदानंद, वाइस चांसलर वी सुब्रमण्यम, टिहरी के डीएम सहित कई संत मौजूद थे।
Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.