सिद्धार्थ मिश्र की कलम से : मित्रों शारदीय नवरात्र का आज दूसरा दिन है। मंदिरों में माता के उपासकों की भारी भीड़ है।  शहरों और गांवों के मंदिरों में माता के जयकारे गूंज रहें है। घरों में भी मां दुर्गा के आसन लगाए गए है। ऐसे माता की पूजा पद्धति और विधान के साथ-साथ यह भी जानलेना आवश्‍यक हैं कि दुर्गा पूजा के समय कौन सा पुष्‍प मां को चढ़ाएं की उनका आशीर्वाद बना रहे। 
  

नवरात्र में दुर्गा उपासना का महत्‍व काफी बढ़ जाता है। साथ ही, इनके पसं एवं नापसंद के पुष्‍पों को लेकर भक्‍तों में फहापोह की स्थिति बनी रहती है। लेकिन, पुष्‍पों के चयन में जरा सी सावधानी रखी जाये तो यह स्थिति भी समाप्‍त हो जाती है। भगवान शिव की पूजा में जो फूल चढ़ाये जाते हैं वे सभी फूल मां भगवती को चढ़ाये जा सकते हैं, जितने भी लाल पुष्‍प हैं वे सभी आदिशक्ति मां दुर्गा को प्रिय हैं। साथ ही, श्‍वेत सुगंधित पुष्‍प भी इन्‍हें चढ़ाये जा सकते हैं।

इन फूलों को भूल कर भी न चढ़ाएं  
शास्‍त्र में उल्‍लेख है कि केवड़ा, केतकी, आक और मदार को छोड़ कर इनकी पूजा में सभी तरह के शुद्ध पुष्‍पों का चयन किया जा सकता है। (क्रमश:)
खबरों में बने रहने के लिए इस link https://appsgeyser.io/9365228/Jharokha%20News को follow करें  और हमारे facebook https://www.facebook.com/jharokhanews/?modal=admin_todo_tour  पेज पर देख सकते हैं

Previous Post Next Post

Ads.

Ads.

Ads.