About

यह झरोखा है शब्‍दों का।  आपके ख्‍यालों का। आपकी अभिव्‍यक्‍ति का। आपकी आजादी का।  यह झरोखा है आसपास की घटनाओं पर नजर रखने का। इतिहास के धुंधलकों में झांकने का। ऐसे लोगों को मंच प्रदान करने का जो औरों के लिए प्रेरणा स्रोत बनें।तो आएं आप भी इस झरोखा के सदस्‍य बनें। और नजर रखें अपने आसपास की घटनाओं पर। तो उठाएं कलम और लिख डालें।  मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों और गिरिजा घरों के ऐतिहासिक और धार्मिक महत्‍व पर। राजनीतिक और आपराधिक घटनाओं पर।  सामाजिक सरोकारों पर।