राबर्ट्सगंज/रसड़ा (सोनभद्र/बलिया) : जिले के रसड़ा हलके के विधायक उमाशंकर सिंह के खिलाफ प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई शुरू कर दी है। यह कार्रवाई सोनभद्र जिले में खनिज देयों के करीब 1.67 करोड़ रुपये जमा न करवाए जाने पर शुरू की गई है।  बकाया राशि जमा न करने पर प्रशासन ने राबर्ट्सगंज की बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा की दो बैंक खातों को सीज कर दिया है। हलांकि इस संबंध मेंं बिधायक उमाशंकर सिंह का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।
   खनन अधिकारी केके राय ने बताया कि उमाशंकर सिंह बिल्‍ली-मारकुंडी में छात्र शक्‍ति नाम से खनन पट्टा है। कई महीने पहले उनके खनन पट्टे की जांच की गई थी तो पता चला कि मंजूर ली से बढ़कर खनन हुआ है। इस पर जांच अधिकारियों की टीम ने खदान मालिक पर एक करोड़ 67 लाख 74 हजार 717 रुपये खनन देय निर्धारित किया। लेकिन पट्टा धारक ने निर्धारित समय पर उक्‍त रकम संबंधित विभाग में जमा नहीं करवाई। इसपर तहसीलदार ने स्‍थानी बैंक ऑंफ बड़ौदा के प्रबंधक को पत्र लिख कर जानकारी मांगी, लेकिन वहां से सूचना न मिलने पर एसडीएम यमुनाधर चौहान और तहसीलदार विकास पांडेय ने बैंक पहुंच कर खातों को सीज करने की कार्रवाई शुरू कर दी। 
 इस संबंध में तहसीलदार विकास पांडेय  ने बताया कि बकाया खनिज देय को जमा करने के लिए विधायक उमाशंकर सिंह को नोटिस भेजी गई थी, लेकिन उनका कोई जवाब नहीं आया। उन्‍होंने बताया कि बैंक ऑफ बड़ौदा में उमाशंकर सिंह के दो बैंक अकाउंट थे जिन्‍हें सीज कर दिया गया है। अब उनकी चल संपत्ति के बारे में पता लगार उसे भी कुर्क करने की तैयारी की जा रही है। 

और नया पुराने