प्रतिकात्‍मक फोटो, फौटो सोशल साइट्स   

लखनऊ - कोराना वायरस पूरी दुनिया में हा हाकार मचा रखा है। दुनिया भर में अबतक पांच लाख से अधिक मौते होची हैं।  वहीं भारत भी इससे अछूता नहीं हैं। यहां भी करीब २० लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना के वायरस को रोकने लिए भारत सरकार ने देशभर में कर्फ्यू लगा रखा ताकि लोगों की सामाजिक दूरी बनी रहे। ऐसे में लोगों कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 
 कोराना कर्फ्यू की वजह से किसी घर में राशन नहीं है तो कोई अस्‍पतला नहीं पहुंच पा रहा है।  वहीं कई लोगों के शादी की डेट आगे बढ़ानी पड़ी। लेकिन अभी जो मामला सामने आया है वह बेहद मार्मिक है।   
कानपुर के बर्रा क्षेत्र में वीरवार को एक महिला ने पुलिस हेप्‍ल लाइन पर फोन कर मदद मांगी।  महिला ने फोन पर कहा कि उसके पति की मौत की सूचना उसे मिली। उसे अपने पति के अंतिम दर्शन और संस्कार में शामिल होने के लिए कोई रास्‍ता नहीं सूझ रहा है। इसके बाद पुलिस ने  तत्काल महिला से संपर्क कर अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए कार मुहैया कराई। जिसके बाद महिला घर से निकल सकी। 
प्रतापगढ़ में बेल्हा मंदिर के पास रहने वाले होमगार्ड बृजलाल की पत्नी रूबी चार माह पहले कानपुर स्थित मायके आई ब्लॉक, बर्रा विश्वबैंक आई थीं। बुधवार देर रात बृजलाल की बीमारी के चलते मौत हो गई। इसकी जानकारी गुरुवार सुबह ससुरालियों ने रूबी को दी। लेकिन, लॉकडाउन में रूबी को प्रतापगढ़ जाने का कोई रास्ता नहीं सूझा तो कंट्रोल रूम में फोनकर मदद मांगी। पुलिस ने तत्‍काल ड्राइवर को अपना नंबर देकर कार से पीड़िता को प्रतापगढ़ भेजा।
और नया पुराने