कोरोना को बुलावा दे रहे बाराचवर ब्‍लॉक के अधिकारी, सरकार पर लगा रहे दोष - The jharokha news

असंभव कुछ भी नहीं,India Today News - Get the latest news from politics, entertainment, sports and other feature stories.

Breaking

Post Top Ad

Jharokha news apk

रविवार, 22 मार्च 2020

कोरोना को बुलावा दे रहे बाराचवर ब्‍लॉक के अधिकारी, सरकार पर लगा रहे दोष

ब्‍लाक  मुख्‍यालय बाराचवर ।

एडीओ मीठाई लाल का बेतुका बयान, सरकार नहीं दे रही सैनिटाइजर और मास्‍कर तो लगाएं कैसे 
 बीडीओ ने कहा, मास्‍क लगाकर बैठे हैं कर्मचारी, नहीं है कोरोना का डर, तस्‍वीरें बता रही हकीकत

छोटे मिश्र,  बाराचवर (गाजीपुर) : कोरोना वायरस की वजह से भारत सहित करीब करीब 140 से अधिक देशों में आपातकाल की स्थिति बनी हुई हैं।  भारत में भी करीत ३५० से अधिक लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वहीं मरने वालों की संख्‍या छह से अधिक हो गई है। कोरोना वायरस प्रति मिनट लोगों को अपने चपेट में ले भी रहां हैं। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मुताबिक कोरोना वायरस से पीडि़त एक व्‍यक्ति तीन दिन में एक लाख से अधिक लोगों प्रभावित कर सकता है। 
इस वायरस से बचाव के लिए केन्द्र सरकार से लेकर राज्य सरकारों तक लोगों को जागरूक करने से लेकर सेहत सुविधाओं तक के तमाम इंतजाम किए हैं। बावजूद इसके केन्द्र सरकार व राज्य सरकार के कुछ कर्मचारी ऐसे हैं जो इसे गंभीरता से नहीं ले रहे।  इनमें ब्‍लॉक, पोस्ट ऑफिस और बैंक कर्मी भी शामिल हैं जो सरकारी आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे हैं।  ऐसे कर्मचारी सरकार के तमाम  व्यवस्थाओं पर सवालिया निशान खड़ा कर रहें हैं।
 इसका ताजा उदाहरण गाजीपुर जिले के विकासखंड बाराचवर में शनिवार को  देखने को मिला।  यहां  पोस्ट ऑफिस, ब्लॉक और बैंक के कर्मचारी इस वायरस से बचाव के सारे नियमों को ताक पर रखकर कार्य कर रहे हैं।
एडीओ मीठाई लाल को नहीं है परवाह
ब्लॉक मुख्‍यालय जैसे पब्लिक स्थानों में रोज सैकड़ों की भीड़  होती हैं। वहीं राज्य सरकार सभी कर्मचारियों को इस वायरस से बचने के लिए गाइडलाइन भी जारी कर चुका हैं। लेकिन सरकार के आदेशों को ताक पर रख सारे नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए शासन के तमाम उपायों का मजाक बनाकर कर्मचारी कार्य कर रहें हैं। ब्‍लॉक कार्यालय में सैनिटेशन किया गया है और ना ही किसी कर्मचारी के बार सैनिटाइजर और मास्‍क है। इसकी चिंता न तो यहां के बीडीओ (ब्‍लॉक डेवलपमेंट ऑफिरसर) को है और ना ही एडीओ मीठाई लाल को।  लापरवाह कर्मचारी और अधिकारी अपने विभाग और सरकार पर ही ठीकरा फोड़ अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ रहे हैं।
ब्‍लाक मुख्‍यालय में कार्यरत कर्मचारी ।  यहां कोराना वायरस के बचने के लिए नहीं बरती जा रही सावधानी 

एडीओ मीठाई लाल ने जिला प्रशासन के सिर फोड़ा ठीकरा
कितना सुरक्षित है ब्‍लॉक कार्यालय। इसका पड़ताल करने जब द झरोखा डॉट कॉम के प्रतिनिधि जब विकास खंड  बाराचवर  के कार्यालय पहुंचे तो देखा कि यहां न तो सैनिटाइजर है और नहीं किसी कर्मचारी या अधिकरी के पास मास्‍क और तो और आम दिनोंकि तरह लोग एक दूसरे सट कर खड़े हैं। दूसरे शब्‍दों में कहें तो कारोना वायरस को निमंत्र दे रहे हैं।  इस संबंध में जब एडीओ  मिठाईलाल से बात की गई तो उन्‍होंने कहा कि सरकार और जिला प्रशासन की तरफ से हमलोंगों को न तो मास्‍क दिया गया है और ना सही सैनिटाजर । अब सवाल यह उठता है कि क्‍या जब सरकार देती तभी ब्‍लॉक के एडीओ साहब और वहां के कर्मचारी कोरोना जैसे घातक वायरस से बचने का इंतजमा करेंगे। 
बीडीओ ने कहा, मास्‍क लगा कर बैठे हैं कर्मचारी
जब इस बात की तस्‍दीक करने के लिए एडीओ मीठाई लाल से बीडीओ सुशील कुमार सिंह का नंबर मांगा गया तो उन्‍होंने उनका नंबर देने से साफ मना कर दिया। उन्होंने कहां कि आप उनसे क्‍या बात करेंगे। हम लोगों को  मास्क सरकार की तरफ से उपलब्ध नहीं कराया गया हैं। एडीओ मिठाई लाल ने कहां कि जब शासन की तरफ से मास्क  दिया जाएगा तो लगाकर काम करेंगे। वहीं खंड विकास अधिकारी सुशील कुमार सिंह से जब उनके मोबाइल नंबर पर बात की गई तो उन्‍होंने कहा कि सभी कर्मचारियों जागरूक किया जा रहा हैं। ब्‍लॉक के सभी कर्मचारी कर्मचारी मास्क लगाकर बैठ रहें हैं। अब अव्‍यवस्‍थाओं की पोल यहीं खुल रही है दोनों अधिकारियों के बयान आपस में मेल नहीं खाते। ब्‍लॉक कार्यालय के सभी  कर्मचारी बिना मास्क लगाए और बिना दूरी बनाए ही कार्य कर रहें थे। तस्‍वीरे इस बात की तस्‍दीक खुद ही कर रही हैं।  ब्लॉक के ऑफिस में ना ही मास्क था ना ही सैनिटाइजर शासन के कर्मचारी ही, इस महामारी से बचाव के सारे नियमों को ताक पर रख कार्य करने में मशगूल थे।
डाकघर बाराचवर।

पोस्ट आफिस व बैंक में भी देखी गई लापरवाही
केंद्र सरकार व राज्य सरकारें इस महामारी से बचने के लिए तमाम गाइडलाइन जारी कर चुकी हैं। इन नियमों को दरकिनार कर पोस्ट ऑफिस व बैंक के कर्मचारी बिना मास्क व सैनिटाइजर के काम करने में  मशगूल थे। डाकघर व बैंकों में रोज सैकड़ों की भीड़ लग रहीं हैं। यहां लोग धक्‍कामुक्‍की करते आम देखे जा सकते हैं।  लेकिन न तो बैंक मैनेजर उन्‍हें रोकने की जहमत उठाते हैं और ना ही डाकघर के बड़ेबाबू।  ऐसे सरकारी कार्यालयों के कर्मचारी लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं। यह हाल जिले के विकासखंड बाराचवर स्थित डाकघर की हैं। जहां पोस्ट आफिस  के बड़े बाबु के  साथ-साथ कोई भी कर्मचारी मास्क लगाकर नहीं बैठा था।
डाक घर के अधिकारी ने भी अपनी लापरवाही का सरकार के सिर पर फोड़ा ठिकरा
गाजीपुर जिले का बाराचवर डाकघर के सीनियर ऑफिसर विजय कुमार ने कहां कि कोरोना से बचाव के लिए विभाग की तरफ से कोई व्यवस्था नहीं  किया गया हैं।और ना ही  सैनिटाइजर दिया गया हैं, और ना ही मास्क सवाल के जवाब में कहां कि मास्क बाजार में मिल नहीं रहां हैं इसके लिए अपने उच्च अधिकारियों को कहां गया है।
यूनियन बैंक में भी दिखी लापरवाही
यही स्थिति यूनियन बैंक आफ इंडिया में भी देखने को मिली जा सैकड़ों की भीड़ लगाए व एक के ऊपर एक  उपभोक्ता  चढ़े हुए थे। वहीं सारे बैंक कर्मी बिना कोई बचाव के हीं बैंक कार्य करने में मशगूल था। इनके पास ना ही कोई मास्क था ना ही किसी में दूरी इस महामारी से बचाव के सारे नियमों की धज्जियां बैंक में उड़ रही थी। बैंक मैनेजर कुलदीप सेंगर ने बताया कि मास्को की व्यवस्था नहीं है सैनिटाइजर उपलब्ध हैं। उनके बातों से अलग सच्चाई कुछ और ही बयां कर रहीं थी।
राजकीय पशुचिकित्सालय बाराचवर।

पशु चिकित्‍सालय महफूज

द झरोखा डॉट कॉम की टीम जब बारचवर के राजकीय पशु चिकित्सालय पहुंची तो वहां का माहौल दिल को सुकून देने वाला था।  पशु चिकित्सालय के सभी कर्मचारी मास्क लगाकर बैठे  कार्य कर रहे थे। अस्‍पताल परिसर में पहुंचते ही वहां मौजूद कर्मचारियों ने टीम के सदस्‍यों के हाथ सैनिटाइजर से साफ कराया। यहां के मुख्‍य पशुचिकक्तिसा अधिकारी डॉक्‍टर  हरबंश सिंह ने कहां कि पशु अस्पताल में मास्क व सैनिटाइजर की व्यवस्था हैं। यहां के सभी कर्मचारी सैनिटाइजर से हाथों को साफ करते हैं। फर्मासिस्‍ट कमलेश सिंह यादव कहते हैं कि हर चीज के लिए सरकार के तरफ ही नहीं देखाना चाहिए। कुछ काम ऐसे होते हैं जो खुद भी करने पड़ते हैं।  सैनिटाइजर और मास्‍क से हम खुद की सुरक्षा करते हैं। इसके लिए सरकार की तरफ देखना कि जब हो देगी तभी हम अपनी सुरक्षा करेंगे। यह सोच गलत है। 
मास्क देख विदक रहें पशु
राजकीय पशु चिकित्सालय के फार्मासिस्ट कमलेश सिंह यादव कहते हैं कि जब लोग पशुओं को लेकर इलाज कराने अस्पताल आते हैं तब काफी विकट स्थिति उत्पन्न हो जाती हैं। क्योंकि जब मास्क लगाकर पशुओं का इलाज करते हैं, तो पशु हमें देख बिदक जाते हैं। और यहां से भागने लगते हैं,और तो और  पशु किसी के भी बस में नहीं होते फिर भी हम लोग मास्क लगाकर बड़े कठिनाइयों के साथ पशुओं का इलाज कर रहे हैं।

थाने व पुलिस चौकी पर मुस्‍तैद 
 बरेसर  थाने के एसआई जितेंद्र उपाध्याय ने बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए थाने व चौकी पर उचित व्यवस्था की गई है। वहीं फरियादियों के आने पर सैनिटाइजर से उनके हाथों को साफ कराया जा रहां हैं ।और इसके बचाव के लिए जागरूक भी किया जा रहां है । एसआई जीतेंद्र उपाध्याय ने कहां कि क्षेत्र में इस महामारी से बचने के लिए लोगों को जागरूक भी किया जा रहां हैं। यहां के सारे पुलिसकर्मी क्षेत्र में मास्क लगाकर निकल रहें हैं। 

Pages